पंजीयन अभियान में 25 हजार 666 संनिर्माण मजदूरों का सत्यापन

http//www.daylife.page

जयपुर। राजस्थान में संनिर्माण मजदूरों के पंजीकरण के लिए श्रम विभाग द्वारा 15 जुलाई से 15 अगस्त तक चलाये गये विशेष अभियान में 25 हजार 666 संनिर्माण श्रमिकों का सत्यापन किया गया। 

श्रम सचिव डॉ. नीरज के पवन ने बताया कि राज्य स्तरीय पंजीयन अभियान के अंतर्गत 1726 चौखटी निर्माण स्थलों का पंजीयन दल द्वारा दौरा कर 46 हजार 689 संनिर्माण श्रमिकों को श्रम विभाग की कल्याणकारी योजनाओं संबंधी जानकारी दी गयी। अभियान के दौरान 25 हजार 666 संनिर्माण श्रमिकों का सत्यापन किया गया।

डॉ. पवन ने बताया कि राज्य स्तरीय पंजीयन अभियान के अंतर्गत प्रदेश के ब्यावर सहित 33 जिलों का पंजीयन दल द्वारा दौरा कर संनिर्माण श्रमिकों की जानकारी अर्जित कर उनको पंजीयन संबंधी जानकारी दी गई एवं सत्यापन संबंधी कार्य सम्पादित किया गया।

उन्होंने बताया कि अभियान के अन्तर्गत जयपुर जिले में 2 हजार 114, अलवर में 1 हजार 733 एवं अजमेर में 1667, जोधपुर में 1140 संनिर्माण श्रमिकों का सत्यापन किया गया। इसी प्रकार डूंगरपुर में 1111, भीलवाड़ा में 1174, उदयपुर में 1022, कोटा में 957, हनुमानगढ़ में 914, भरतपुर में 853, टोंक में 836, जालौर में 788, बीकानेर में 754 संनिर्माण श्रमिकों का सत्यापन किया गया। 

इसके अलावा श्रीगंगानगर में 754, सीकर में 723, धौलपुर में 678, दौसा में 649, बाडमेर में 642, राजसमंद में 562, पाली में 621, बांसवाड़ा में 562, चुरू में 559, सवाई माधोपुर में 553, जैसलमेर में 541, बारां में 527, प्रतापगढ़ में 503, झुंझुनू 476, ब्यावर में 476, झालावाड़ 467, चित्तौड़गढ़ में 456, बूंदी में 356, सिरोही में 310 एवं नागौर में 288 संनिर्माण श्रमिकों का सत्यापन किया गया।