आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी ने एएसक्यू के साथ किया समझौता


http//daylife.page

जयपुर। आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी ने रिसर्च में अमेरिकन सोसायटी फॉर क्वालिटी इंडिया (एएसक्यू) के साथ समझौता पर हस्ताक्षर किया है। भारत और विदेशों में प्लेसमेंट के बेहतर अवसरों को बढ़ाने और बीच के अंतर को पाटने के लिए यह समझौता छात्रों के लिए फायदेमंद होगा।

गुणवत्ता में दुनिया के अग्रणी ब्रांडों में से एक है जो अपने अनुसंधान, प्रमाणन और शिक्षा कार्यक्रमों के माध्यम से स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में समृद्ध ज्ञान पोर्टफोलियो प्रदान करता है।

आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी के चेयरमैन डॉ. एसडी गुप्ता ने कहा, आईआईएचएमआर और एएसक्यू के बीच समझौता ज्ञापन के परिणाम भविष्य में स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में दिखाई देंगे। समझौता ज्ञापन का उद्देश्य गुणवत्ता प्रबंधन क्षेत्र में शिक्षा और क्षमता निर्माण को बढ़ावा देना है। समझौते से दृष्टि शिक्षा में सुधार के लिए एक मील का पत्थर साबित होगा और मजबूत शिक्षा-उद्योग इंटरफेस की स्थापना के लिए एक रोल मॉडल के रूप में उभरेगी।

ऑनलाइन संवाद में  आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी के प्रेसिडेंट (कार्यवाहक) डॉ. पी आर सोडानी ने कहा,  इस समझौते से छात्रों को अनुशासित और प्रणालीगत दूरदृष्टि का ज्ञान मिलेगा । जिससे छात्र अपनी समस्या का समाधान गुणवत्ता प्रबंधन तरीके से हल कर सकेंगे। यह कौशल और ज्ञान छात्रों के बेहतर रोजगार के लिए मदद करेगा।

एएसक्यू दक्षिण एशिया के प्रमुख और निदेशक अनिंद्या सारंगी ने कहा, “ हम हेल्थकेयर क्षेत्र में मूल्य सृजन के लिए जानी जाने वाली आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी के साथ हाथ मिला कर खुश हैं।”

संवाद को संचालित करते हुए, डॉ शिव के त्रिपाठी, प्रोफेसर और डीन (प्रशिक्षण) ने कहा कि, “दोनों संगठन हेल्थकेयर प्रबंधन के लिए विशेष जोर देने के साथ सिक्स-सिग्मा, लीन मैनेजमेंट और क्वालिटी मैनेजमेंट थीम पर संगठनों कार्यकारी प्रशिक्षण और क्षमता निर्माण ’कार्यक्रमों की एक श्रृंखला पर काम कर रहे हैं। ये कार्यक्रम 2021 के दौरान ऑनलाइन और ऑनसाइट दोनों तरह से वितरित किए जाएंगे। ”