राजस्थान आवासन आयुक्त को मिला नेशनल हाउसिंग अवार्ड

राजस्थान आवासन आयुक्त को मिला नेशनल हाउसिंग अवार्ड



ई-ऑक्शन में बनाया था अन्तरराष्ट्रीय कीर्तिमान, वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स लंदन में दर्ज हुई थी उपलब्धि महज 9 महीने में 6 हजार अधिशेष सम्पत्तियों का निस्तारण कर, अर्जित किया रिकॉर्ड 1400 करोड़ का राजस्व


http//daylife.page


जयपुर। राजस्थान आवासन आयुक्त पवन अरोड़ा को आयोजित वर्चुअल तृतीय वार्षिक नेशलन हाउसिंग समिट एंड अवार्ड्स कार्यक्रम में हाउसिंग बोर्ड्स श्रेणी में नेशनल हाउसिंग अवार्ड से सम्मानित किया गया। उल्लेखनीय है कि इलेट्स टेक्नोमीडिया द्वारा आयोजित इस राष्ट्रीय कार्यक्रम में हर वर्ष देश भर में चुने हुए उत्कृष्ट कार्यों को अवार्ड देकर सम्मानित किया जाता है। कार्यक्रम में देश-विदेश से जुडे़ हजारों इंडस्ट्री एक्सपर्ट्स, सरकार कर्मचारी/अधिकारी और हाउसिंग सेक्टर से जुड़े प्रोफेशनल्स ने वर्चुअल तरीके से भाग लिया।


उल्लेखनीय है कि पवन अरोड़ा को यह पुरस्कार इंदिरा गांधी नगर में कराए गए विकास कार्यों के लिए दिया गया। गौरतलब है कि हाल ही में आवासन मंडल द्वारा इंदिरा गांधी नगर, जयपुर में वृहद् स्तर पर विकास कार्य किए गए हैं। इनमें यहां के निवासियों को 4 एमएलइडी पेयजल अतिरिक्त उपलब्ध कराया गया है, पांच किलोमीटर सड़क को आदर्श सड़क के रूप में विकसित किया जा रहा है और इसके साथ ही यहां कई अन्य विकास कार्य करवाए गए हैं। 


रोचक बात यह है कि आवासन मंडल आयुक्त के रूप में पवन अरोड़ा को महज 9 महीने हुए हैं, जिनमें 5 महीने कोरोना लॉकडाउन के बावजूद कम समय में आवासन मंडल द्वारा बड़ी संख्या में अधिशेष सम्पत्तियों का निस्तारण हुआ, रिकॉर्ड राजस्व अर्जित किया गया है। मंडल द्वारा 6 हजार सम्पत्तियों के निस्तारण से लगभग 1400 करोड़ रूपये का राजस्व प्राप्त किया गया है। 


मंडल द्वारा चलाए गए है ई-ऑक्शन योजना में महज 35 दिवसों में 1010 मकान बेचकर 162 करोड़ रूपये का राजस्व अर्जित कर अन्तरराष्ट्रीय कीर्तिमान बनाया। इस कीर्तिमान को वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, लंदन द्वारा भी मान्यता दी गई। इसके बाद बुधवार नीलामी उत्सव, स्वर्ण जयंती उपहार योजना, बुधवार नीलामी उत्सव के तहत ई-बिड सबमिशन के द्वारा सभी को किश्तों में आवास योजना चलाई गई, जिससे कम कीमत में आमजन के घर का सपना साकार हो सका। इन योजनाओं के अतिरिक्त मंडल द्वारा कोचिंग हब, प्रताप नगर, सिटी पार्क, मानसरोवर,  जयपुर, जोधपुर और कोटा चौपाटी, वीकेंड होम्स जैसी येाजनाएं लाकर शहरों के विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है। हाल ही में मंडल द्वारा 14 स्वंतत्र आवासीय योजनाएं और 4 मुख्यमंत्री जन आवास योजनाएं लॉंच की गई हैं, जिनके माध्यम से आमजन को कम कीमत पर गुणवत्ता युक्त आवास उपलब्ध कराया जाएगा। उल्लेखनीय है कि आयुक्त की कार्यशैली और उनके द्वार अर्जित उपलब्धि की राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा और नगरीय विकास एवं आवासन मंत्री द्वारा भी प्रशंसा की गई।